On page SEO Kya hai? Website Page ko Search results me top par kaise laaye

On Page Search Engine Optimization kya hai

On page optimization एक SEO का ही पाटॅ हैं। SEO का मतलब होता है search engine optimization, लेकिन अपनी वेबसाइट या ब्लोग को better search engine results page के लिए optimize करना, ये optimization भी दो तरीको से होता हैं।

एक होता है on page ओर दूसरा off page SEO.

इस पोस्ट में हम बात करेंगे कि on page को कैसे optimization करतें हैं

जब बात आती है On Page SEO की तो आपने अब तक यही पढा़ होगा कि On Page क्या है? लेकिन इस article में on page को SEO के लिए परफेक्ट optimization कैसे करे उसे practically जानेगें।

On Page Search Engine Optimization kya hai

On page SEO : Content या Article बनाते समय जो भी हम अपने content या article में implement करते है जैसे Title, Heading, permalink, media, Design etc. को सही ढंग से optimize करना ही On Page SEO कहलाता हैं।

On Page SEO क्या है ? ये जानने के बाद आता है कि इसे better SERP (Search Engine Page Result) के लिए कैसे  करे।

On Page SEO को बिना Practically समझे आप इसे अपने ब्लोग Contents पर लागू नहीं कर सकते ,ओर अगर आप अपने पोस्ट का On page SEO अच्छे से नहीं करते हैं तो आपको better SERP नहीं मिल सकता। 

#1. SEO Friendly Permalink :

Permalink को हमेशा छोटा ओर keywords के साथ में लेकर बनाये, बेकार दिखने वाले URL को ignore करे जैसे: http://tech4guru.com/p=123

इसके साथ URL को ज्यादा बडा भी नहीं रखे जैसे: http://tech4guru.com/on-page-seo-apne-page-ko-seo-ke-liye-perfect-optimaze-kare

लेकिन ऐसा क्यूँ ?

ऐसा इस लिए क्यूकि Google हमेशा पोस्ट के permalink में से शुरू के 3-5 word को ज्यादा value देता है, जिसका मतलब हैं कि हमें अपने URL में targeted keyword को place करना चाहिए।

On Page SEO Kya hai?

Screenshot ये Show करता है कि किस तरह तरह से Short URL Google Search Engine results में attractive बनते है, ओर साथ में वो keyword होते हैं तो google उन्हें Bold Show करता है, जो ज्यादा eye catching होती है जिससे हमारी ब्लोग पर CTR भी बढती है. CTR : Click Though Rate Google के first page पर 10 results Show करते हैं, Suppose करो कि google के first page पर 100 users सचॅॅ करने वालो को आपकी Site open होती है तो उनमें मान लो 20 users ने आपकी वेबसाइट को ही open किया बाकी के 80 users ने बाकी केे बचे 9 blog या वेबसाइट को open किया, तब आपकी CTR 20% होगी।

आप जितना अपने Permalink URL में केवल main keywords को ही प्लैस करोगें ओर URL को short रखोगें तो येे अलग ओर छोटे में अच्छा लगेगा।

#2. Title के शुरू में Keyword :

Definitely आप अपने पोस्ट के लिए targeted keyword (जिस keyword से अपने पोस्ट पर ranking चाहते हैं) को title में place करते हैं, ओर ये अच्छा भी हैं क्युकि ये Google का सबसे important On Page SEO Factor हैं.

लेकिन, इसके साथ में आपको इस बात पर भी ध्यान देना चाहिए कि अपने main keywords को title के शुरूआत में रखे।

हो सकता है आप कुछ पोस्ट के title को direct अपने targeted keyword से शुरू नहीं कर पा रहे हैं या कोई meaning ही नहीं बन पा रही है तो कोशिश करे कि आप अपने targeted keyword को title के End में ना रखे।

#3. चकित करने वाला Multimedia:

केवल Text से Content बनाना ही काफी नहीं होता है, कोशिश होनी चाहिए कि उस Content में Video ओर images भी हो

Video ओर images आपके ब्लोग पर आने वाले users कुछ वक्त ओर रूकेगा. जिससे Bounce rate कम होगी और Time On Page बढ़ेगा।

Bounce Rate: जब users ब्लोग पर आकर बिना Blog पर second Page पर जाये ही ब्लोग को बंद कर देता है

Time On Page : Visitors आपकी साइट पर कितना टाइम तक रूकता है।

सवाल बनता है कि Multimedia SEO के लिए क्या अच्छा हैं, Right…

आप अपने Contents में  attractive Videos ओर images add करोगें तो इससे आपकी blog की Bounce Rate कम होगी यानी users आपकी वेबसाइट को Close कर दे, इसके Chance कम हो जायेगे जो कि Google SEO के लिए अच्छा है ओर साथ में Time on page बढ़ेगा जिससे users आपकी Site पर बहुत समय तक रूकेगें तो ये भी Google SEO के लिए अच्छा है।

कुल मिला कर Google Users behaviour भी देखता है कि users आपकी साइट पर कितने time तक रूकता हैं ओर कितने users आपकी site को बिना आगे पढ़े close कर रहे हैं।

अगर कोई visitors आपके content पर Google से search करके आते हैं ओर page loading होते ही आपके उस content से back आ जाते हैं then ये आपके search engine ranking के लिए नेगेटिव इन्फेक्ट दालेगी इसलिए हमारी कोशिश होनी चाहिए कि उस visitor को अपने site पर रोके रखे।

#4. Keyword को शुरू के 100 words में ही रखे 

आपके article या content में शुरू के 100-150 words में ही targeted keyword होना चाहिए. यानी जो first paragraph होता है आपके content का उसी में आपका keyword होना चाहिए।

इस screenshot में देखिये, हमने SEO, Optimization, On Page Search engine को target किया हैं जिस Content में शुरू के 100-150 words में ही use किया है

Keyword को शुरू के 100 words में ही use करने से Google ये समझ जाता है कि आपका page किस वारे में है।

#5. Loading Speed कम करे:

Google ये भी record करता हैं कि आपकी ब्लोग के loading speed कितनी हैं यानी आपके ब्लोग को खुलने कि speed fast होनी चाहिए।

इसे कम करने के लिए आप अपने ब्लोग पर high definition images को compress कर सकते हैं, ओर अगर अपने ब्लोग को self host पर रखा है तो आप fast speed hosting ही ले अगर आप Google blogger (blogspot) use करते हैं तो आपको hosting की power के वारे में देखने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि blogger platform में आपकी साइट Google के server पर host होती है 

अपनी कोशिश बनाये रखें कि आपकी site कम से कम 4 सेकन्ड में ही open हो जाये ओर अगर आपके ब्लोग पर users Indian आते हैं तब आपको अपनी site की  speed को कम करना चाहिए

Research करने से पता चला है कि 75% users आपकी साइट को दुबारा visit नहीं करेंगे अगर आपकी Site खुलने में 4 second से भी ज्यादा टाइम लेती है।

on page seo hindi, 2018

GTmetrix.comका use करके अपनी site की loading speed को चेक कर सकते हो।

#6. अपने title में Modifiers Add करे:

Modifiers जैसे “best” , “Top” , “Famous” , “Guide” , “Complete Guide” , “Review” , “helpful” , etc. को अपने title में add करने से इसे ओर भी attractive बना सकते हो।

जैसे आपको एक content लिखना है जिसका thame हैं “wordpress के tools”

तो इसे title में इस तरह से add कर सकते हैं

1)” Top 10 WordPress Tools जो आपको बचाये “

2)” 10 Famous tools जिसे आपको भी use करना चाहिए

3)“Best WordPress tools को use करने पर ” Complete Guide”

ऐसा करने से आप अगर Facebook , Google Plus पर भी अपने content का link share करते हैं तो वहां से आपको click मिलने के chance बहुत होगे।

ओर साथ में Google पर Site Show होने से high chance होगे कि users आपके blog content का title देखे तो पहले आपके ब्लोग के content को पहले open करे

अगर आपको शिखना हैं कैसे एक बढिया title लिख सकते हैं जिसके आपको SEO improve हो तो आप मेरी ये पोस्ट को read करे जिसमें मैने बताया हूँ

#7. Social Share buttons use करे :

क्या चान्स होते हैं आपके Content को पढने के बाद readers आपके उस Contents को अपनी Social profile पर शेयर करे ?

Chances are very high जब आप Social Share button का users करते हैं तब users आपके content को Share करेंगें.

अगर आप social share button add नहीं करते हैं तब आपके ब्लोग के ऐसे readers काफी कम होगे जो Address bar से URL copy करके अपने Social profile पर Paste करके शेयर करे

यानी social share button का use करना बहुत ही ज़रूरी है अगर आप अपने contents को social site पर वाइरल करना चाहते हैं।

अगर आप Google blogger platform use करते हैं तो हो सकता है आपके Templates में ही Social share button option हैं, अगर नहीं है तो आपको अलग से Social share button add कर सकते हैं।

ओर wordpress users simply ding ding plugins को install कर सकते हैं

#8. Content को बडा रखे :

Research से पता चला है आपके Contents में जितने length होगें Chance High होगे आपके Google first page पर Rank होने के..

जिस Contents की High ranking चाहते हैं ओर वो contents का topic भी काफी high Conpetition में  हैं तब आपको कोशिश करनी चाहिए की पोस्ट कम से कम 2000 words में लिखी ही जाये ओर अगर इससे ज्यादा words में लिखते हैं तो वो ओर भी बेस्ट होता है।

ओर rule बना देना चाहिए कि हर contents को at least 1000 words से ज्यादा में लिखे

जितना long contents होगा उसमें उतने ही ज्यादा Long tail keywords को use में ले सकेगें. यानी उतना ही अच्छा हैं SEO के लिए ।

#9. Internals Links :

Internal link का मतलब हैं कि अपने new content में पुराने published post का लिंक को भी add करे लेकिन उस new contents में उसी contents का internal link add करे तो उससे related हैं।

अगर इसका अच्छा सा example देखना है तो वो है Wikipedia ,Wikipedia पर average हर पोस्ट पर 50+ internal link मिल ही जायेगी।

On Page SEO क्या है?

इस वारे में मेरा suggestion होगा कि new content पर कम से कम 2-5 old content को लिंक करे, जिससे आपकी blog की bounce rate भी कम होगी क्योंकि आप users को एक ही contents नहीं दे रहे हैं उसके साथ में ओर भी content आगे कर रहे हैं पढने के लिए तो visitors आपके ब्लोग पर ओर ज्यादा time time तक रूकेगें।

#10. Use keywords in H2 & H3:

आप अपने content में H2 and H3 को Subheading देने के लिए तो use करते ही होगे? अगर नहीं है तो इसे use में ले क्योंकि first ये आपके contents को more user friendly बनाती हैं ओर second उसमें keyword रखने से ये On Page SEO optimization को ओर भी strong करेगा

जो आपको keyword हैं आपको उसका ये ध्यान भी रखना है वो एक limit से ज्यादा ना ही. नहीं है तो वो भी keyword stuffing कहेलाता हैं… जो हमारे लिए अच्छा नहीं है keyword की क्या limit होनी चाहिए।उसकी जानकारी मेंने share कि हैं वो आप read कर सकते हैं।

में उमीद करता हूँ कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी और आपको अपनी वेबसाइट को SEO के लिए बहुत अच्छा post हैं।

admin Administrator
Namaskar dosto Mera naam Pravin Kumar hai. Mai HSC (Higher Secondary Education Board) kiya hu. Or meri Age 21 Year hai. Mai India ke गुजरात के छोटे से शहर महेसाना से हूँ। Mai blogging ki start 2016 me ki thi or is ke baad me Job kar raha hu. Fir Maine blogging start kiya hua hai or online janakari Hindi me share karta hu. Me chahta hu ki logo ko online janakari Hindi me mile or Apna online business start kar sake jo log blogging or online janakari / internet janakari Lena chahte hai to unke liye achha hai. Oye apun ko step by step follow kar sakte Ho. Web Developer, Digital Marketing, Blogging Tips, Business Start planning Tech4guru – Hindi Me Help

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *