full form: GDP क्या है और कैसे मापें पूरी जानकारी हिन्दी 2020

2

GDP aur GNP Kya Hai? – जाने जीडीपी और जीएनपी में अंतर व इसकी गणना कैसे करते है!

Full form:GDP क्या है, इसका फूल फॉर्म तथा इसे कैसे Calculate किया जाता है जहाँ पूरी दुनिया Covid-19 नाम की संक्रामक बीमारी से जूझ रही है तो वही इससे लाखों लोगों ने अपनी जान से जा चुके है और करोड़ो मासूम लोग अभी भी इसका शिकार बने हुये है। जिससे पूरी दुनिया में LockDown के चलते अपने घरों में कैद है जिस वजह से दुनिया का GDP वर्ष 2020 में बहुत नीचे जा चुकी है।

इस आर्टिकल में हम आपको GDP kya hai aur eska full form kya hoti hai |what is GDP in GDP kya hai in Hindi आप भी GDP को बारीक से समझना चाहते है और यह जानना चाहते है कि GDP कैसे कलकुलेट होती है तो आपको यह जानकारी अवश्य पढ़नी चाहिए, जिसमें आप GDP के बारें में जानेंगे।

GDP क्या है और इसका Full Form | GDP Full Form in Hindi

GDP का full form Gross Domestic Product होती है जिसे हिन्दी भाषा में सकल घरेलू उत्पाद भी कहा जाता है। GDP के जरिये किसी भी देश में सेवाओ और वस्तुओ का उत्पादन और उसक मूल्य होती है, अर्थात उस देश में किसी भी वस्तु को बनाने में कितना खर्च आई है और उसका बाजारीकारण मूल्य क्या है और सरकार को इससे कितना फायदा हुआ है।

सभी देश का अलग-अलग समय सीमा है अपने देश का GDP Rate तय करने का, अगर हम भारत की बात करें तो यहाँ हर तीन महिना बाद भारत सरकार देश का GDP देश  के जनता के सामने रखते है। जिस देश का GDP जितना अधिक होगा उस देश का Growth Rate उतना ही अधिक होगी। GDP बढ़ाने के लिए किसी भी देश को अधिक से अधिक वस्तु का उत्पादन करना होता है तथा उसे बेचना होता है।

GDP किसी भी देश की आर्थिक सेहत को मापने का सबसे ज़रूरी पैमाना है। GDP किसी ख़ास अवधि के दौरान वस्तु और सेवाओं के उत्पादन की कुल क़ीमत है। भारत में GDP की गणना हर तीसरे महीने यानी तिमाही आधार पर होती है। ध्यान देने वाली बात ये है कि ये उत्पादन या सेवाएं देश के भीतर ही होनी चाहिए।

GDP का प्रकार | Types of GDP in hindi

GDP दो तरह का होती है एक कॉस्‍टैंट प्राइस तो वही दूसरा वर्तमान प्राइस होती है। GDP को दो तरह के भागों में बाटने का कारण उत्‍पादन की कीमतें महंगाई के साथ घटती बढ़ती रहती हैं। यह पैमाना है कॉन्‍टैंट प्राइस का जिसके अंतर्गत जीडीपी की दर व उत्‍पादन का मूल्‍य एकआधार वर्ष में उत्‍पादन की कीमत पर तय होता है जबकि दूसरा पैमाना करेंट प्राइस है जिसमें उत्‍पादन वर्ष की महंगाई दर शामिल होती है।

Nominal Price GDP इस तरह के GDP में Statistics department उत्‍पादन व सेवाओं के मूल्‍यांकन के लिए एक आधार वर्ष यानी बेस इयर तय करता है। इस वर्ष के दौरान कीमतों को आधार बनाकर उत्‍पादन की कीमत और तुलनात्‍मक वृद्धि दर तय की जाती है और यही कॉस्‍टैंट प्राइस जीडीपी है। ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि जीडीपी की दर को महंगाई से अलग रखकर सही ढ़ंग से मापा जा सके।

Current Price GDP इस तरह के GDP में उत्‍पादन मूल्‍य में अगर महंगाई की दर को जोड़ दिया जाए तो हमें आर्थिक उत्‍पादन की मौजूदा कीमत हासिल हो जाती है। यानि कि आपको कॉस्‍टैंट प्राइस जीडीपी को तात्‍कालिक महंगाई दर से जोड़ना होता है।

GDP की शुरुआत कब हुई | GDP history in hindi

जीडीपी शब्द का सबसे पहले इस्तेमाल अमेरिका के एक अर्थशास्त्री साइमन कुजलेट ने 1935 से 1944 के दौरान अमेरिका की अर्थव्यस्था को मापने के लिया किया था। इसके बाद इसका प्रयोग अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने शुरू कर दिया।

जीडीपी सबसे आसान तरीका है किसी देश की अर्थव्यस्था (Economy) और विकास (Growth) को पता करने का, और भारत में 1950 से जीडीपी (GDP) के आधार पर अर्थव्यवस्था मापी जाती है। जीडीपी से किसी देश की आर्थिक सेहत का पता चलता है इसलये इसे विकास दर भी कहा जाता है।

GDP कैसे कलकुलेट किया जाता है | GDP Calculate Formula in hindi

GDP को तीन तरीके से कलकुलेट किया जाता है पहला Expenditure Method of Counting GDP इस GDP Formula के तरह उस पैसा को कलकुलेट किया जाता है जो हमारे द्वारा खर्च की जाती है साधारण भाषा में हम इसे investment के नाम से भी बोला जा सकता है, GDP का दूसरा कलकुलेट करने का फॉर्मूला Income Method Of Counting GDP होती है।

इस GDP formula के तरह उन सभी income को जोड़ा जाता है जो हमारें द्वारा कमाई जाती है तो वही तीसरी GDP formula Production Method Of Counting GDP के तरह उन सभी वस्तु का लागत कीमत और बेचने का दाम जोड़ा जाता है। यानि किसी भी वस्तु को कितना मूल्य दाम में बनाया गया है और उसे कितना में बेचा गया है।

इस तरीके से GDP का एक formula निकालकर आती है जो GDP (सकल घरेलू उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + कुल निवेश (Gross Investment) + सरकारी खर्च (Government Spending) + [निर्यात (Imports) – आयात (Exports)]  होती है। इस फॉर्मूला को छोटे रूप में GDP = C + I + G + (X − M) बनाया गया है और इसी फॉर्मूला के जरिये भारत में हर तीसरा महिना कलकुलेट करके सरकार देश की GDP सबको बताती है। नीचे इसका उदाहरण देखें:-

C = Consumer Expenditure

I = Industries Investment

X = Export – Import

G = Government Expenditure

GDP = 100$ + 100$ +100$ +(100$ -100$) =300$

GDP = 300$

GDP of india 2020

जैसा कि आप जानते होंगे भारत अभी Development country है , जिससे इसका GDP अधिक और कम होती रहती है। अगर हम भारत का GDP 2020 की बात करें तो वह 5.8 है। भारत सहित दुनियाभर में कोरोना वायरस नामक संक्रामक फ़ेल चुका है, जिससे दुनियाभर में Lockdown जैसी स्थिति पैदा है। इसी वजह से सब चीज बंद है, जिससे यह वर्ष भारत सहित दुनिया के लगभग सभी देश का GDP बहुत ही कम होगा, क्योंकि वस्तु का उत्पादन न के बराबर हुआ है और इसका बाजारीकारण शून्य जैसा है।

GNP क्या है | what is GNP in hindi

GNP का full form Gross National Product होती है। जिसे हिन्दी भाषा में सकल राष्ट्रीय उत्पाद भी कहा जाता है। GNP के अन्तर्गत वे सभी चीजें आती है जो किसी देश के अन्दर उत्पादित की जाती हैं और जो विदेशों से आय अर्जित की गयी है । GNP को इस तरह से भी समझा जा सकता है कि किसी देश की कुल GDP में उस देश के नागरिकों द्वारा विदेशों से कमाई गयी इनकम को जोड़ दिया जाता है और विदेशी नागरिकों द्वारा की गयी कमाई को घटा देते है।

GNP calculate formula in hindi

GNP (सकल राष्ट्रीय उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + निवेश (Investment) + सरकारी खर्च (Government Spending) + X [निर्यात (Imports) – आयात (Exports)] + Z (विदेशी निवेश से घरेलू निवासियों द्वारा अर्जित शुद्ध आय – घरेलू निवेश से विदेशी निवासियों द्वारा अर्जित शुद्ध आय) जिसे छोटे रूप में GNP (Y) = C + I + G + X + Z से जाना जाता है।

GDP और GNP में अंतर | difference between GDP and GNP in hindi

जीडीपी और जीएनपी में कई तरह के अंतर होते है जिससे इसे समझना और आसान हो जाती है। नीचे आप GDP और GNP में अंतर देख सकते है:-

  • GDP सकल घरेलू उत्पाद है, जबकि GNP सकल राष्ट्रीय उत्पाद है |
  • GDP किसी देश के अंदर उत्पन्न आय को दर्शाता है, और GNP नागरिकों द्वारा उत्पन्न इनकम को बताता है, चाहे वे देश के भीतर हों या बाहर देश।
  • GDP स्थान आधारित है, जबकि GNP स्वामित्व पर आधारित है

जब किसी भी देश का GDP अधिक होती है तो उससे सरकार सहित जनता को भी अधिक फायदे होते है। जिससे उस देश को विसकित देश बनने में अधिक सहायता प्रदान होती है। भारत की सरकार अपने देश का GDP बढ़ाने के लिए हमेशा कोशिश करते है उनका लक्ष्य भारत को विकशील से विकसित देश में गिनती होना है और दुनिया का सबसे बड़ा Growth Rate country in the world भारत को बनानी है।

अंतिम शब्द

आपने इस Article में GDP और GNP क्या है, इसका full form और यह कितने तरीके का होता है | what is GDP full form in hindi के बारें में जाना। आशा करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

  1. Wi-Fi 6 kya hai 
  2. Aadhaar Card me mobile number kaise jode 

आपको लगता है कि यह Information सबके साथ Share करनी चाहिए तो इसे Social Media Facebook, WhatsApp इत्यादि पर अवश्य Share करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

2 COMMENTS

Leave a Reply