रक्षाबंधन पर कविताएँ – Raksha bandhan quotes for brother hindi

2

रक्षाबंधन पर कविताएँ | Quotes on Raksha Bandhan in Hindi

भाई-बहन का रिश्ता सबसे अनोखा बंधन होती है और इसी बंधन को सालों-साल तक बनायें रखने के लिए हर साल श्रावण मास की शुक्ल मास की पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन भारत समेत दुनियाभर में मनाई जाती है।

यह हिंदुओं का त्योहार ना सिर्फ आप-सी प्रेम-भाव को प्रकट करता है, बल्कि उसके साथ-साथ भाई-बहन का अटूट रिश्ता को भी प्रदर्शित करता है। इस महान पर्व का इतिहास हजारों साल पुराना है, जब हमारें ऋषि-मुनियों ने भाई-बहन के बीच के रिश्ते को अमर और अपनी बहन की रक्षा करने के लिए Raksha Bandhan जैसी परंपरा की शुरुआत उन्होने की।

रक्षाबंधन यह वह पर्व होता है, जब भाई-बहन बेसब्री से इंतज़ार करते है, क्योंकि इस दिन वर्षों से नौकरी, काम से चलते दूर हुआ एक बहन का भाई एक बार फिर से इसी रक्षाबंधन के बहाने उससे मिल पता है और अपनी बहन से रेशम के धागे से बने राखी, जिसे रक्षा सूत्र भी कहा जाता है बंधवाता है।

इसके बाद बहन भाई को दीपों से सजे पूजा-थाली से भाई का आरती उतारती है और उन्हे मिठाई खिलाती है। इसके बाद भाई अपने बहन को अपने अनुसार तौफा के रूप में उपहार भेंट करता है। दोनों एक दूसरे का रक्षा करने के प्रतिज्ञा लेते है और अपनी बचपन की यादों में खो जाते है।

इस भाई-बहन के अनोखी रिश्ता वालें पोस्ट में हम आपके साथ Quotes on Raksha Bandhan in Hindi – रक्षा बंधन कविता इन हिंदी, Raksha bandhan Quotes For Brother and Sister in Hindi, भाई-बहन के पवित्र रिश्ते पर हिन्दी कविता, Raksha Bandhan Quotes in Hindi – रक्षा बंधन पर कविताएँ, raksha bandhan par panktiyan साझा करने जा रहें है, जिसे आप उनके सामने Dedicated कर सकते है।

रक्षाबंधन कविताएँ | Quotes on Raksha Bandhan in Hindi

आया राखी का त्योहार कविता

चली आती है अब तो हर कहीं बाज़ार की राखी ।

सुनहरी, सब्ज़, रेशम, ज़र्द और गुलनार की राखी ।

बनी है गो कि नादिर ख़ूब हर सरदार की राखी ।

सलूनों में अजब रंगीं है उस दिलदार की राखी ।

न पहुँचे एक गुल को यार जिस गुलज़ार की राखी ।।1।।

अयाँ है अब तो राखी भी, चमन भी, गुल भी, शबनम भी ।

झमक जाता है मोती और झलक जाता है रेशम भी ।

तमाशा है अहा ! हा ! हा गनीमत है यह आलम भी ।

उठाना हाथ, प्यारे वाह वा टुक देख लें हम भी ।

तुम्हारी मोतियों की और ज़री के तार की राखी ।।2।।

सारांश रक्षाबंधन के इस कविता में कवि ने यह बताया है कि जब राखी का त्योहार आती है तब बाजार किस तरह से साज जाती है। चारों तरफ रक्षाबंधन का बेसब्री से इंतज़ार होती है। किसी बहन को अपने भाई के आने का किस तरीके से इंतज़ार करती रहती है।

Raksha bandhan par best panktiyan

राखी बांधत जसोदा मैया ।Raksha Bandhan best hindi poem

विविध सिंगार किये पटभूषण, पुनि पुनि लेत बलैया ॥

हाथन लीये थार मुदित मन, कुमकुम अक्षत मांझ धरैया।

तिलक करत आरती उतारत अति हरख हरख मन भैया ॥

बदन चूमि चुचकारत अतिहि भरि भरि धरे पकवान मिठैया ।

नाना भांत भोग आगे धर, कहत लेहु दोउ मैया॥

नरनारी सब आय मिली तहां निरखत नंद ललैया ।

सूरदास गिरिधर चिर जीयो गोकुल बजत बधैया ॥

सारांश इस कविता में कवि ने पौराणिक बातों पर प्रकाश डाला है और उन्होने ने यह बताया है कि किस तरह जसोदा मईया रक्षाबंधन के दिन अपने भ्राता को रेशम का डोर बांधने के लिए और उनसे सदा जीवनभर उनकी रक्षा के लिए प्रतिज्ञा लेना चाहती है, इसलिए वह सज-धजकर उनका इंतज़ार कर रही है।

रक्षाबंधन पर कविता – Hindi Quotes for Kids about Raksha Bandhan (Rakhi)

राखी आयी खुशियां लायीRaksha-Bandhan-Kavita for bhai bahan

राखी आयी खुशियां लायी

बहन आज फूलें न समाई

रखी, रोली और मिठाई

इन सब से थाली खूब सजाई !

 

बांधे भाई के कलाई पे धागा

भाई से लेती हैं वादा

रखी की लाज भैया निभाना

बहन को कभी भूल न जाना !

भाई देता बहन को वचन

दुःख उसके सब कर लेंगा हरन

भाई बहन का प्यार हैं

त्यौहार रखी का न्यारा हैं !

सारांश इस कविता में एक बहन रक्षाबंधन के आने पर इतना खुशी-मग्न में है कि वह फुले नही समा रही है। अपने भाई के कलाई पर राखी बांधने के लिए उसने राखी का थाली भी सजा राखी है। अपने भाई को रेशम का धागा बांधती है और उससे कई तरह के वादा करवाती है और बड़े-बड़े उपहरा देने को कहती है, जिंसने वचन सबसे अनमोल है।

Bhai Bahan Raksha Bandhan Quotes in Hindi

नहीं चाहिए मुझको हिस्सा माँ-बाबा की दौलत में,

चाहे वो कुछ भी लिख जाएँ भैया मेरे! वसीयत में!!

नहीं चाहिए मुझको झुमका चूड़ी पायल और कंगन,

नहीं चाहिए अपनेपन की कीमत पर बेगानापन!!

मुझको नश्वेर चीज़ों की दिल से कोई दरकार नहीं,

संबंधों की कीमत पर कोई सुविधा स्वीकार नहीं!!

माँ के सारे गहने-कपड़े तुम भाभी को दे देना,

बाबूजी का जो कुछ है सब ख़ुशी ख़ुशी तुम ले लेना!!

चाहे पूरे वर्ष कोई भी चिट्ठी-पत्री मत लिखना,

मेरे स्नेह-निमंत्रण का भी चाहे मोल नहीं करना!!

नहीं भेजना तोहफे मुझको चाहे तीज-त्योहारों पर,

पर थोडा-सा हक दे देना बाबुल के गलियारों पर!!

रूपया पैसा कुछ ना चाहूँ.. बोले मेरी राखी है,,

आशीर्वाद मिले मैके से मुझको इतना काफी है!!

तोड़े से भी ना टूटे जो ये ऐसा मन -बंधन है,

इस बंधन को सारी दुनिया कहती रक्षाबंधन है!!

तुम भी इस कच्चे धागे का मान ज़रा-सा रख लेना,

कम से कम राखी के दिन बहना का रस्ता तक लेना!!

सारांश एक बहन अपने भाई से कहती है कि उनको अपने माता-पिता का पुरानी दौलत नही चाहिए और ना उन्हे किसी बड़े उफर की जरूरत है। बस आप मेरे जीवनभर इसी तरह हमारी रक्षा करते रहें और हमें आपकी जब भी जरूरत होगी आप मेरी मदद करने के लिए हमेशा आगे रहना ऐसी वो वचन अपने भाई से चाहती है।

रक्षाबंधन पर बेस्ट हिंदी कविता Best Raksha bandhan Quotes In Hindi

हर सावन में आती राखी,Raksha bandhan Kavita (Poem) Hindi Rakhi Poem for Brother and Sister 2020

हर सावन में आती राखी,

बहना से मिलवाती राखी…

चाँद सितारों की चमकीली,

कलाई को कर जाती राखी…

जो भूले से भी ना भूले,

मनभावन क्षण लाती राखी,

अटूट-प्रेम का भाव धागे से

हर घर में बिखराती राखी…

सारे जग की मूल्यवान

चीजों से बढकर भाती राखी.

सदा बहन की रक्षा करना,

भाई को बतलाती राखी.

सारांश एक भाई श्रावण मास की शुक्ल मास की पूर्णिमा के दिन रक्षाबंधन को याद करते हुये अपनी बहन को याद कर रहा है और वह कल्पना करता है कि जब बहन उनके कलाई में राखी बांधती है तब उनका कलाई चाँद-सितारे से भी अधिक चमकीले नज़र पड़ती है। वह अपनी बहन को रक्षा करने का प्रतिज्ञा लेता है।

भाई – बहन के प्यार रक्षाबंधन पर हिंदी कविता !

भाई बहन का शुभ दिन है आजindi Rakhi Poem for Brother and Sister

भाई बहन का शुभ दिन है आज

कलाई पर सजा है राखी का ताज

बहना की आँखों में है बहुत प्यार

भाई के हाथों मिलेगा आज उपहार

रक्षा करेगा भाई देता है वचन

यूं ही साथ रहेंगे हर जनम

आओ मिलकर खाएं हम मिठाई

रक्षा बंधन की सबको बधाई

सारांश भाई-बहन आपस में राखी का त्योहार मानते है और बहन भाई से कहती है कि ऐसा दिन हर रोज हो जब हम उनके कलाई पर ऊंही राखी बाँधती रहूँगी। भाई अपने बहन को वचन देता है कि वह उसका रक्षा जीवनभर करेगा और यह सब कहकर दोनों एक साथ मिठाई खाते है।

Quotes on Rakhi for Brother in Hindi – Quotes on Raksha Bandhan in Hindi rakhi kavita

काश मेरा भी कोई भाई होता…

कभी मुझसे लड़ता

कभी मेरे लिए लड़ता

जब दुनिया होती विरुद्ध में

तब वो मेरे साथ चलता

जो भी मुख उठते अवहेलना के लिए

वह सब पर प्रहार करता

काश मेरा भी कोई भाई होता…

हंसता और हंसाता,

समझता और समझाता,

निराशा जो घेरती व्यूह में,

तब वो हौसला बढ़ाता,

‘रावण’ सा पराक्रमी होता वो भाई,

जो मेरे लिए भी शस्त्र उठाता,

कोई जो आहत करता स्वाभिमान को,

तब वो युद्ध का विगुल बजाता।

काश मेरा भी कोई भाई होता…

सारांश जब एक बहन का भाई नही होती है तब वह कल्पना कर कहती है कि अगर उसका भी भाई होता तो वह भी उसके साथ मज़ाक-मस्ती करती, कभी उसके साथ लड़ती और कभी वो मेरे लिए दूसरों के साथ लड़ता। अपनी रक्षा के लिए वह भगवान से प्रथना कर रही है कि उसका भी भाई होता तो वो भी मेरे रक्षा के खातिर रावण-सा पराक्रमी बन जाता और हमारी रक्षा करता।

Best Raksha Bandhan Quotes in Hindi

प्रीत के धागों के बंधन में,

स्नेह का उमड़ा रहा संसार

सारे जग में सबसे सच्चा

होता भाई बहन का प्यार

नन्हे भैया का है कहना

राखी बंधो प्यारी बहना

सावन की मस्तिली फुहार

मधुरित संगीत सुनती है

मेघो की ढोल ताप पर,

वसुंधरा मुस्कुराती है

आया सावन का महिना

राखी बांधो प्यारी बहना

धरती ने चंदा मामा को

इन्द्रधनुष राखी पहनाई

बिजली चमकी खुशियों से,

रिमझिम जी ने झड़ी लगाई

राजी खुशी सदा तुम रहना

राखी बांधो प्यारी बहना

सारांश इस कविता के अनुसार कवि कहना चाहते है कि जब राखी का त्योहार आती है तब किस तरह भाई-बहन एक दूसरों से वर्षो के बाद मिलने के लिए बेसब्री से इंतज़ार करती रहती है। भाई बहन का प्यार सबसे अनोखा और अटूट रिश्ता का प्रतीत है यह रक्षाबंधन का त्योहार। इसी तरह भाई अपने बहन को सारा खुश रहने का कामना करता है।

Quotes on Rakhi for Brother in Hindi – रक्षा बंधन पर कविताएं हिंदी मेंShort Poem on Raksha Bandhan in Hindi

कैसी भी हो एक बहन होनी चाहिये

बड़ी हो तो माँ-बाप से बचाने वाली

छोटी हो तो हमारे पीठ पीछे छुपने वाली

बड़ी हो तो चुपचाप हमारे पॉकेट में पैसे रखने वाली

छोटी हो तो चुपचाप पैसे निकाल लेने वाली

छोटी हो या बड़ी छोटी-छोटी बातों पे

लड़ने वाली एक बहन होनी चाहिये

खुद से ज्यादा हमे प्यार करने वाली

एक बहन होनी चाहिये

सारांश जब एक भाई को बहन नही होता है तब वह अपने आप से कहता है कि अगर उसका भी एक छोटी या बड़ी बहन होती तो वह भी हमारी मदद करती, अगर हमसे बड़ी होती तो मम्मी-पापा से बचाने वाली और छोटी होती तो मेरे पीठ पीछे छुपने वाली। वह होती तो हम उससे बहुत लार प्यार करते और उससे हम भी राखी बंधवाते।

रक्षाबंधन पर कविता 2020 – Quotes on Raksha Bandhan for Brother & Sister in hindi

एक रेशम का धागा भर नहीं,

एक हल्की सी गांठ ही नहीं,

राखी एक बहन का प्यार है,

ये कोई यूं ही दिन भर नहीं,

भाई बहन के बंधन का त्योहार है!

बंधन, लेकिन कैसा बंधन?

बंधन हो कर भी बंधन नहीं,

ये बंधन भी बहन के पंख हैं,

भाई, बहन के लिए, मानो,

मोतियों भरा शंख है…

रक्षा करने का एक वादा,

हमेशा साथ देने का इरादा

हर भाई का बहन से,

है एक कसम भी, साथ निभाने का,

हक़ जताने का भाई पर है अवसर भी…

पूर्णिमा की चाँद सा चमकीला,

हर बहन को उसका भाई प्यारा,

हर पल उसका साया, उसका सहारा…

बहन का प्यार भी दिए की लोह सा,

भाई पर हर पल सब कुर्बान करने को…

एक रेशम का धागा भर नहीं,

एक हल्की सी गांठ ही नहीं…

राखी एक बहन का प्यार है,

ये कोई यूं ही दिन भर नहीं,

भाई बहन के बंधन का त्योहार है…

रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता

जाति-धर्म के तोड़ता बंधन, फिर भी सबको है भाता।

कांटे भी खिलते फूलों से, जब रक्षाबंधन है आता।।

प्राणवायु नहीं दिखती फिर भी, जीवन उसी से है चलता।

बहन हो कितने दूर भी, फिर भी राज उसी का है चलता।।

जंजीरें भी जकड़ न पाएं, मन इतना चंचल होता।

पल में अवनि, पल में अंबर, पल में सागर में खोता।।

इतने चंचल मन को बांधा, इक रेशम के धागे ने,

हंसते-हंसते खुद बंध जाना, सबके मन को है भाता।

कांटे भी खिलते फूलों से, जब रक्षाबंधन है आता।

Raksha Bandhan Quotes in Hindi – Hindi Quotes On Raksha bandhan – रक्षाबंधन पर हिन्दी कविता

बहन करती जिसका बेसर्बी से इंतज़ार है

देखो आ गया राखी का त्यौहार है

भाई की कलाई और बहन का प्यार है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

Hindi Poem for Kids about Raksha Bandhan

झिलमिल कर रहे सारे सितारे है

बज रही दिल में गीतार है

हो रही थोड़ी तकरार है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

सज गयी सारी बहने है

भाईओं ने भी पहनी पगड़ी है

ढीली हो रही जेब है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

गुलाब जामुन से सज गयी थाल है

कुकु, चावल ने भी धारण किया अपना स्थान है

वक़्त भी दे रहा एक मिसाल है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

पूछ रही बहना एक सवाल है

क्या दे पाओगे मुझे रक्षा का वरदान है

यह सिर्फ धागा नहीं है वादा साथ निभाने का है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

भाई ने दिया प्यारा जवाब है

मेरी बहन मेरे लिए नायब है

उपहारों में फूलो की हुई बौछार है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

हर किसी के किस्मत में बहन का प्यार कहा है

वो खुशनसीब है जिनके भाग्य में एक प्यारी बहना है

सुख दुःख बाटने का ख़िताब उसे ही मिलता है

देखो राखी से सज गया सारा बाज़ार है।

अंतिम शब्द

इस Article में रक्षाबंधन पर कविताएँ | Quotes on Raksha Bandhan in Hindi के बारें में जाना। आशा करता हूँ आप Bhai Bahan Raksha Bandhan Quotes in Hindi के बारें में पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

2 COMMENTS

Leave a Reply